2/04/2007

कौन है काउरिसमाकी?

अब लगभग पचास की तरफ खींच रहे, आकि काउरिसमाकी की आप नज़दीक से तस्‍वीर देखें तो यही लगेगा जैसे कोई शराबी अपनी चौथी बोतल ढूंढता किसी गलत जगह पहुंच गया है. उनकी उंगलियों में सिगरेट कांपता रहता है, और आंखें मीडिया के किसी भी तमाशे से अपने को दूर बनाये रखने को छटपटाहट लिये अधमुंदी दिखती हैं. भले ही कान, बर्लिन व वेनिस जैसी जगहों पर काउरिसमाकी व उनकी फिल्‍मों को अपार स्‍नेह मिलता रहा हो.
आकि फिनलैंड जैसे छोटे उत्‍तरी युरोपीय देश से हैं जहां न तो कोई रमणीय लैंडस्‍कैप है या अदरवाईस ऐसी कोई खास चीज़ जिसके लिए वह मशहूर हो. बकौल खुद आकि, हेलसिंकी का सामान्‍य नज़ारा बर्फीली चादर की परत और सडकों पर एक सूनी उदासी की होती है. ऐसे में वहां कोई किस तरह की फिल्‍म बनाये. मगर इसी उदास दुनिया को आकि ने लगभग अपना ट्रेडमार्क-सा बना लिया. और सन् ईक्‍यासी से सालाना एक के एवरेज़ के साथ उनकी अब तक की छब्‍बीस फिल्‍में इन्‍हीं उदासियों की बहुरंगी कहानियां कहती हैं. उनके ज्‍यादातर किरदार निजी व सामाजिक दिक्‍कतों का शराब व अपने निहायत हयूमरस दार्शनिक वैचारिक बैसाखियों के सहारे पार पाने की कोशिश करते हैं, और बावजूद अस्‍वाभाविक, लगभग असंभव-सी स्थितियों के, उसे, कई बार, जीतते भी हैं (याद कीजिये शैडोज़ ईन पैराडाइज़, एरियल या फिर आई हायर्ड अ कंट्रैक्‍ट किलर जहां हताशा और अंधेरों की भरमार है, फिर भी आकि के चरित्र अपनी जिद व शिद्दत से अपने लिए रोशनी खडा कर लेते हैं. लेनिनग्राद काउबॉयज़ गो टू अमेरिका में एक बरबाद नमूनों का रॉकर्स बैंड फिल्‍म की शुरुआत में अपनी किस्‍मत आजमाने अमरीका निकलता है, जिसे न तो बहुत म्‍यूजिक की समझ है और न अंग्रेजी की, मगर फिल्‍म के आखिर में उन्‍होंने टॉप टेन के चार्ट में अपने लिये जगह बना ली है- अमरीका में नहीं, मैक्सिको में! प्‍यार भी आकि के चरित्र अपनी खास फिलसॉफिकल शैली में करते हैं. बदसूरती, पैसों का अभाव आकि के आशिकों को हताश व दीवार पर सिर तोडने को मजबूर नहीं करता. वे शराब और अपनी हार न माननेवाली जिजिविषा के सहारे धीमे-धीमे ठंडी, विरोधी स्थितियों को मात करते हैं) सरवाईवर्स के चुटीले व्‍यंग्‍य, सन् पचास के आस-पास का रॉक एंड रॉल का बैकग्राउंड व पिछले बीस वर्षों में यूरोप में हुए कुछ सबसे बेहतरीन काले-सफ़ेद फिल्‍मांकन के ठप्‍पे के साथ आकि का सिनेमा अपनी ठाठदार पहचान बनाता है.होटलों में बर्तन धोने, डाक पहुंचाने जैसे धंधों के साथ आजिविका चलाते हुए आकि ने थोडा वक्‍त फिल्‍म समीक्षा में भी हाथ आजमाया; उसके बाद बडे भाई मीका के साथ एक फिल्‍म प्रोड्क्‍शन कंपनी शुरु की (आकि की तरह भाई मीका भी फिल्‍मकार हैं, और उतने ही प्रॉलिफिक भी. हेलसिंकी में कहावत मशहूर है कि फिनलैंड में सन् अस्‍सी के बाद से अब तक की बनी फिल्‍मों की एक-चौथाई काउरिसमाकी भाईयों की देन है.). अपने किरदारों की ही तरह आकि मजबूत सरवाईवर हैं.

काउरिसमाकी बंधु संबंधी किसी जिज्ञासा के लिये देखें: http://www.sci.fi/~solaris/kauris
आकि की कुछ चुनींदा फिल्‍मों की समीक्षा के लिये यहां देखें: http://www.filmref.com/directors/dirpages/kaurismaki.html

1 comment:

ritu said...

This section provides a glimpse of great film-makers of the world and therefore attempt is worth appreciating. i feel this is the best section of the blog where one gets interesting film reviews and lot of information of the internationally acclaimed films. such informations are scattered all over the place but to get it such comprehensive form is exciting. Above all everything is in Hindi which is the most welcoming part. It is the great source for Hindi readers.